कोन है Nirav Modi ?क्या है PNB scam ? कैसे किया 11,500 करोड़ का PNB घोटाला.

Nirav Modi

 

PNB बैंक में एक चौकाने वाला किस्सा सामने आया है, किस्सा है 11,500 करोड़ रुपये के घोटाले का इस फर्जीवाड़े में जो नाम सामने आया है. वह एक हिरा व्यापारी जिसका नाम है Nirav Modi. इस फर्जीवाड़े का असर कुल तीन बैंक पर पड़ने वाला है. जिसमे दो सरकारी बैंक और एक प्राइवेट बैंक का समावेश है. इन बैंक के नाम है यूनियन बैंक ऑफ़ इंडिया, इलाहबाद बैंक और एक्सिस बैंक.

कैसे हुवा फर्जीवाड़ा ?

इस मामले में बताया जा रहा है यह मामला लैटर ऑफ़ अंडरटेकिंग का है, जिसमे एक बैंक अपना एक गारंटी लैटर दुसरे बैंक को देती है जिसमे एक खातेदार की गारंटी दी जाती है ताकि वह खातेदार दुसरे बैंक से पैसा ले सके. इस सूरत में पैसा लेने वाला खातेदार डिफ़ॉल्टर या उस अगली बैंक को पैसा देने से मना कर दे तो. उस बैंक का पैसा चुकाने की जिम्मेदारी जिन्होंने लैटर ऑफ़ अंडरटेकिंग ( LOU ) दिया है उस बैंक की होती है,

Nirav Modi

PNB bank डेपुटी मैनेजर ने किया Nirav Modi को सपोर्ट

PNB Bank के डेपुटी मेनेजर गोकुलनाथ शेट्टी ने Nirav Modi को सपोर्ट करने के लिए core बैंकिंग प्रणाली सॉफ्टवेयर में गड़बड़ करके स्विफ्ट masseging सिस्टम का दुरूपयोग किया, यह प्रणाली विदेशी बैंक के साथ विदेशो में पैसा लेन देन के काम में इस्तेमाल की जाती है. बैंक लैटर ऑफ़ अंडरटेकिंग का इस्तेमाल करते हुए दी गई गारंटी को authenticate करने के लिए स्विफ्ट massaging सिस्टम का इस्तेमाल करती है. इसी ऑथेंटिकेशन के आधार पर भारतीय बैंक की विदेशी शाखाओ, से फोरेक्स क्रेडिट दी जाती है.

कब चला फर्जवाड़े का पता?

जनवरी महीने में जब लैटर ऑफ़ अंडरटेकिंग की अवधि समाप्त होने पर जब भारतीय बैंक से विदेशी शाखाओ को उनकी रकम नहीं मिली. तब जाकर इस मामले पर से परदा उठा. तब विदेशी शाखाओ के बैंक ने PNB बैंक से संपर्क किया और उसमे लैटर ऑफ़ अंडरटेकिंग देने की बात कही गई. इससे PNB बैंक को पता चला उनके पास LOU के रिकॉर्ड में गड़बड़ की गई थी.

जांच के घेरे में कई कंपनियां

इस घोटाले में कथित रूप से Nirav Modi शामिल होने का खुलासा हुवा है, इस घोटाले में कुछ जानी मानी आभूषण कंपनिया शामिल होने की आशंका है. जिनमे गीतांजलि, गिन्नी और नक्षत्र जैसी कंपनी भी विभिन्न जाँच एजेंसी के दायरे में आ गयी है. एक बड़े अभिकारी के हवाले से पता लगा है, इन घोटाले में चार बड़ी कंपनी जिनमे गीतांजलि, गिन्नी, नक्षत्र और नीरव मोदी जाँच के घेरे में है. सीबीआई और प्रवर्तन निदेशालय इस मामले की जाँच में जूटा है. इन कंपनी की और से अभी तक कोई खुलासे नहीं आये है. वित्त मंत्रालय के आदेशा अनुसार कोई भी बड़ी कंपनी और दोषी लोगोको बक्शा न जाये, इस मामले में आदेश दिए गये है.

Nirav Modi

कौन है मास्‍टर माइंड

इस पुरे खेल का मास्टर माइंड Nirav Modi बताया जा रहा है. कुछ दिनपहले PNB के कहने पर सीबीआई ने Nirav Modi के खिलाब मामला दर्ज किया था. NIrav Modi एक जाने माने हिरा कारोबारी है. इसने अपनी स्कूल की पढाई छोड़ कर कुछ ही सालो में हिरा कारोबारी का बिज़नस शुरू किया और कुछ ही सालो में हजारो करोड़ की कंपनी खड़ी कर दी. एक समय इनका नाम फ़ोर्ब्स के लिस्ट में भारत के 100 कारोबारी में शामिल किया गया था.
47 साल के हिरा व्यापारी Nirav Modi दुनिया के जाने माने ज्वेलरी डिज़ाइनर माने जाते है. हीरे से इनको बचपन से ही लगाव था. बचपन सही इनके पिता और Nirav डायमंड कटिंग से लेकर डिजाइनिंग के हुनर को बारीकी से समजते थे. Nirav Modi ने पेनिसिल्वानिया में फाइनेंस की पढाई में एडमिशन लेकर एक ही साल में पढाई छोड़ दी. और बिज़नस करने के इरादे से mumbai आ गये जहा उनके चाचा डायमंड के कारोबारी थे. modi ने उनके साथ काम सुरु कर दिया.

Read: How does Netflix works? What Is Netflix?

Read: Sanitary Napkin making Story of Original PADMAN: Arunachalam Muruganantham

 

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *