Pegasus Spyware (पेगासस स्पाइवेयर) whatsApp Users beware! Hindi

Pegasus Spyware

क्या आपने Pegasus Spyware के बारे मे सुना है। व्हाट्सएप की ओर से एक कंप्लेंट लांच की गई है।  सनफ्रांसिस्को कोर्ट में जिसमें कहा गया है कि इजराइल की जो स्पाइवेयर कंपनी है। जिसका नाम है NSO ग्रुप और उसकी पैरंट कंपनी Q साइबर टेक्नोलॉजी उन्होंने 1400 व्हाट्सएप यूजर्स को दुनिया भर में Pegasus Spyware नाम का वायरस सॉफ्टवेयर भेजा था।  हाल ही में एक न्यूज़ आई है आज इसमें बहुत सारे इंडियन जर्नलिस्ट और एक्टिविस्ट के सोशल मीडिया अकाउंट को हैक किया गया है।

व्हाट्सएप का जो मैसेजिंग प्लेटफार्म है उसके पूरी दुनिया भर में 400 मिलियन से भी ज्यादा यूजर्स है। WhatsApp का जो प्लेटफार्म है वह  एंड टू एंड इंक्रिप्शन पर काम करता है। लेकिन हाल ही में एक न्यूज़ ने सबकी नींद उड़ा दी है। 

व्हाट्सएप में जो ऑडियो फीचर है उसकी वजह से एक Pegasus Spyware नाम का स्पायवेयर इंस्टॉल हो जाता है। जो एंड्राइड और IOS फोन में व्हाट्सएप के जरिए ऑटोमेटिकली इंस्टॉल हो जाता है।  इसी वजह से व्हाट्सएप पर आने वाले मैसेज को हैकर को पढ़ पाना आसान हो गया है। 

व्हाट्सएप की ओर से कहा गया है कि यह जो अटैक है वह अप्रैल – मे 2019 में डिटेक्ट हुआ था। NSO ग्रुप उन्हो की और से  यह Pegasus Spyware बनाया है, जिसका नाम पेगासस मैलवेयर है ऐसा कहा जा रहा है। उसका इस्तेमाल करके फोन डिवाइस को टारगेट किया गया है। यह virus WhatsApp के जरिए ऑडियो/वीडियो के कॉल करने पर फोन में आ रहा है। 

ये जो Pegasus Spyware है इसका दुसरा नाम है क्यू साईट वायरस।  पेगासस दुनिया के सबसे खतरनाक जासूसी सॉफ्टवेअर मे है जो अँड्रॉइड डिव्हाइस की जासूसी करने के लिए सक्षम है   यूजर की जानकारी के बिना उसके स्मार्टफोन में इन्स्टॉल हो जाता है और एक बार फोन मे इंस्टॉल हो गया तो उसे हटाना नामुमकीन हो जाता है।

यह व्हायरस  एक तरहा का सॉफ्टवेयर है जो लोगो की जानकारी चुराने मे सक्षम है। Pegasus Spyware आपके नीजी जानकारी के उपर नजर रखता है। पासवर्ड, कॉन्टॅक्ट, कॅलेंडर, मेसेज मायक्रोफोन कॅमेरा, आपके मोबाईल में मौजूद व्हिडिओ, ऑडिओ, इमेजेस आपके अन्य व्हाट्सअप मॅसेजेस इन सब पर नजर रखता है। इतना ही नही Pegasus Spyware यूजर की जीपीएस लोकेशन को भी समज सकते है। 

पेगासस वायरस (Pegasus Spyware) क्या है।

पेगासस वायरस आपके फोन में व्हाट्सएप VoIP stack को भेद कर फोन को अपना लक्ष्य बनाता है। एक मिस कॉल के जरिए पेगासस वायरस फोन में अपना कंट्रोल देने में सक्षम बन जाता है। यहां पर VoIP का मतलब होता है वॉइस ओवर इंटरनेट प्रोटोकॉल (Voice over Internet Protocol)  अथवा IP Telephony इसके जरिए ऑनलाइन मल्टीमीडिया (वीडियो कॉलिंग) और वॉइस कम्युनिकेशन के लिए इस इंटरनेट प्रोटोकॉल का इस्तेमाल करके इंटरनेट पर वॉइस कॉलिंग या वीडियो करना इसका काम है।

IP Telephony, Broadband Telephony और Broadband Phone  का Function पब्लिक इंटरनेट के ऊपर कम्युनिकेशन सर्विसेस को जैसे Voice कॉलिंग, Video Calling, SMS, वॉइस Massaging, इन सब मे इसका इस्तेमाल किया जाता है। इसी IP telephony को hack करने का काम Pegasus Spyware करता है। यूजर के फोन मे एंटर होकर अपने आप डाटा ट्रांसफ़र करने लगता है, जिनको यह डाटा भेजना है। 

Pegasus Spyware का और एक तरीका हॅक करने का । 

Pegasus सॉफ्टवेअर की मदत से किसी भी मोबाईल को हैक किया जा सकता है कुछ चुनिंदा ऑपरेटिंग वर्जन मे आसानी से यह हैक कर पाता है। हॅकर्स यूजर की इन्फॉर्मेशन निकालने के लिए एक लिंक युजर्स के मोबाईल पर भेजता है। 

उस लींक पर क्लिक करते ही आपके फोन में यह Pegasus Spyware इन्स्टॉल हो जाता है। व्हाट्सअप चॅट की जासूसी करने के लिए हॅकर्स इसमे ऑडियो कॉलिंग फिचर का इस्तेमाल करते है। इसमे फोन रिसीव नही करने के बावजूद भी खतरनाक सॉफ्टवेअर यूजर के फोन मे इन्स्टॉल हो जाता है । जासूसी करने के लिए व्हाट्सअप नंबर पर व्हिडिओ /ऑडिओ कॉल किया गया है व्हाट्सअप वर मिस कॉल देकर सॉफ्टवेअर लोगो के फोन में इंस्टॉल कराया गया।

इस मे व्हाट्सअप / IOS के कौन से वर्जन को हार्म पहोच सकता है।

Pegasus Spyware के वजह से एंड्राइड के वर्जन 2.19.134 से पहले एंड्राइड ओएस, बिजनेस ऐप के 2.9.44 वर्जन से पहले के सभी वर्जन और आईओएस में 2.9. 51 के पहले के ऑपरेटिंग सिस्टम और बिजनेस ऐप के 2.19.51 से पहले के वर्जन और विंडोज फोन के 2.8.348 के पहले के वर्जन इन सभी वर्जन में पेगासस वायरस एक्टिवेट हो सकता है और आपकी फोन को पूरी तरह से कब्जे में लेकर आपकी सभी डाटा को छेड सकता है।

इसके बाद वाले सभी वर्जन में मालवेयर को सही कर दिया है यानी इसके हायर वर्जन में यह रिस्क नहीं रहेगा। व्हाट्सएप में इस अटैक के बारे में अपने सभी 1400 यूजर्स को पहले ही बता दिया है इससे बचने के लिए आपको सिर्फ एक ही तरीका लगाना है वह है आपके व्हाट्सएप को हमेशा अपडेट करते रहिए क्योंकि नए अपडेट के जरिए Pegasus Spyware सॉफ्टवेयर के फैलने के चांसेस बहुत कम है।

तो आपको यह पोस्ट कैसे लगी इसे ज्यादा से ज्यादा शेर कीजिये और अपने दोस्तों को इसके बारे मे जरूर बताए, धन्यवाद,

 

Read : BSNL Cashback Offer 6 Paisa per Minute BSNL give to Users.

 

Tik Tok Owners launches Smartisan Jianguo Pro 3 Smartphone, Snapdragon 855 + SOC processer

News Reporter
I am a Computer Engineer, Working with a reputed Company. I am a Youtuber and Professional Blogger. working with Number of Blogs. this blog is helping people for technical tricks and tips.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *