what is Shut Down, Sleep, Hibernate for Laptop?

shut down sleep hibernate

Computer को Shut Down, Sleep, Hibernate और कुछ केसेस में हाइब्रिड sleep मोड पर रख सकते है. तो हम जानेंगे क्या अलग है  और आपके लैपटॉप के लिए क्या सही है इसके बारे में. battery पर लैपटॉप को इस्तेमाल करते समय लैपटॉप के पॉवर के बारे में जानना बेहद जरुरी है.
Shut Down, Sleep, Hibernate इन सभी option के कुछ Advantages और कुछ Disadvantages है जिसके बारे में हम विस्तार से जानेंगे.

Difference between Shutdown,Sleep,Hibernate.

Shut Down:

यह computer और लैपटॉप की पॉवर ऑफ स्टेट होती है, जब आप अपने PC को shutdown करते हो आपके सभी ओपन प्रोग्राम क्लोज होते है और ऑपरेटिंग सिस्टम shutdown होती है. PC का shutdown होना मतलब पॉवर का use न होना. जब आप अपने PC को फिर से use करना चाहते हो और PC ON करते ही computer boot प्रोसेस से गुजरता है. हार्डवेयर प्रोग्राम को initialize करके स्टार्टअप प्रोग्राम को लोड करता है. यह सब आपके सिस्टम के ऊपर depend करता है इस प्रोसेस को पूर्ण होने के लिए या तो कुछ सेकंड या फिर कुछ मिनिट भी लग सकते है.

Sleep:

sleep mode में PC Low power स्टेट में जाता है. computer की मेमोरी स्टेट एक्टिव रहती है. पर PC के बाकि पार्ट्स shutdown हो जाते है. और किसी भी पॉवर का इस्तेमाल उन पार्ट्स पर नहीं होता. जब आप PC को turn on करते हो ऑपरेटिंग सिस्टम बाकि हार्डवेयर पार्ट को पॉवर supply करके स्टार्ट कर देती है. इसी वजह से computer को boot होने में टाइम नहीं लगता. जितने भी running अप्प और ओपन डॉक्यूमेंट मेमोरी स्टेट में एक्टिव होने के वजह से खुल जाते है.

Hibernate:

इस mode में आपके computer की current स्टेट को Hard Drive में save किया जाता है. जिसमे content को मेमोरी से फाइल में dumping किया जाता है. जब आप PC को boot Up करते है, प्रीवियस स्टेट को हार्ड डिस्क से मेमोरी में लोड किया जाता है. इसी से computer की प्रीवियस स्टेट को save किया जाता है. जैसे सभी ओपन डाटा और प्रोग्राम . अपनी स्टेट में आते है. हाइबरनेट mode से computer को boot होने में sleep mode से ज्यादा समय लगता है. पर हाइबरनेट mode, sleep mode से काम पॉवर consume करता है. computer shutdown होने के समय जितना पॉवर consume करता है उतना ही पॉवर हाइबरनेट के समय consume करता है.
Hybrid:
हाइब्रिड mode का इस्तेमाल डेस्कटॉप PCs के लिए किया जाता है. यह mode बहोत से लैपटॉप में by Default desable रहता है. हाइब्रिड mode यह कॉम्बिनेशन ( मिश्रण ) होता है sleep और हाइबरनेट mode का. हाइबरनेट की तरह ही मेमोरी स्टेट को यह हार्ड disk में save करता है. इसी वजह से computer जल्द ही wake up ( reboot ) होता है.
लैपटॉप में battery होने की वजह से हाइब्रिड mode का उतना महत्त्व नहीं होता. जब आप अपने computer को sleep mode में डालते हो उस समय battery critically low होने पर PC automatically आपका डाटा save करने के लिए हाइबरनेट mode में जाता है.

When To Shut Down, Sleep, Hibernate

कुछ लोग अपने computer को हमेशा shutdown करते है और sleep mode और हाइबरनेट mode का कभी भी इस्तेमाल नहीं करते. और कुछ लोग computer को 24/7 चलते है. लोग अलग अलग तरह से अपने computer से ट्रीट करते है.
• When To Sleep:
sleep mode यह जब आप आपके लैपटॉप को कुछ देर के लिए छोड़ कर जाते हो तब काम में आता है. आप अपने PC को sleep mode में इलेक्ट्रिसिटी save और battery पॉवर save करने के लिए कर सकते हो. जब आप अपने computer को फिर से इस्तेमाल करना चाहते हो कुछ ही समय में यह resume हो जाता है. जब ज्यादा समय के लिए PC का use नहीं करना हो तो PC को sleep mode में रखना ठीक नहीं. इससे बैटरी डाउन हो जाती है.
• When To Hibernate:
हाइबरनेट ज्यादा पॉवर save करता है sleep mode से. जब आप अपने computer को use नहीं कर रहे हो, या फिर आप सोने जा रहे हो तब आप इलेक्ट्रिसिटी और battery पॉवर save करने के लिए हाइबरनेट mode का इस्तमाल कर सकते हो. हाइबरनेट mode resume होने में ज्यादा समय लेता है sleep mode के मुकाबले. हाइबरनेट useful होता है बैटरी save करने के लिए जब लैपटॉप बैटरी पॉवर प्लग इन नहीं होता है. जब आप अपना लैपटॉप बंद ना करते हुए बैटरी पॉवर save करना चाहते हो उस समय लैपटॉप को sleep mode में डालने से अच्छा है हाइबरनेट mode पर रख दे.

इस तरह से हमने जाना Shut Down, Sleep, Hibernate क्या है? और कब हमें Shut Down, Sleep, Hibernate का इस्तेमाल करना चाहिए.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *