UC Browser Ban In India, play store से हटाया गया UC Browser

UC Browser

UC Browser Disappear From Play Store 

UC Browser को प्ले स्टोर से हटा दिया गया है. चाइना की सबसे बड़ी सेलिंग कंपनी अलीबाबा डॉट कॉम का मोबाइल वेब ब्राउज़र जिसका नाम UC Browser है. इस एप्लीकेशन को प्ले स्टोर से कुछ गूगल policy से छेड़ छाड के चलते हटा दिया गया है.

500 मिलियन से भी ज्यादा डाउनलोड  वाला यह ब्राउज़र जिसका यूजर  इंडिया में 100 मिलियन  के करीब है.  

UC Browser भारत में बहुत पसंदीदा ब्राउज़र है  लेकिन अचानक से कुछ खामियों की वजह से UC ब्राउज़र को प्ले स्टोर ने हटा दिया. 

UC वेब एप्लीकेशन के अन्य ब्राउज़र जैसे UC Browser Mini और UC न्यूज़ अभी भी प्ले स्टोर पर उपलब्ध है.

 चाइना  का यह सबसे पसंदीदा एप्लीकेशन है. 

UC Browser भारत के सामान्य users का  डाटा चाइना कि सर्वर  में  स्टोर कर रहा था ऐसा आरोप लगाया जा रहा है. 

लेकिन UC Browser को क्यों रिमूव किया किया गया इसका कोई भी अधिकारीक कारण पता नहीं चल पाया है.

क्यों हटाया UC Browser:

UC ब्राउज़र का जब रिमूवल हुआ इस बात का पता कंपनी को एक यूजर के द्वारा ईमेल करने पर चला.

Android पुलिस वेब साईट के फाउंडर  Artem Russakovskii  को UC ब्राउज़र की ओर से एक ईमेल आया है.

जिसमें UC यूनियन की तरफ से गूगल और UC वेब में कुछ डेटा को लेकर मतभेद की आशंका जताई है.

UC ब्राउज़र की तरफ से कुछ गलत तरीके से एडवरटाइजिंग और कुछ गुमराह करने वाली इंफॉर्मेशन Browser पर शेयर किए जाने की वजह से यह कार्रवाई करने की आशंका है.

माइक रोस नाम के एक UC ब्राउज़र एंप्लोई ने अपने ट्वीट में कहा है कि यह रिमूवल टेंपरेरी किया गया है.

प्ले स्टोर में 30 दिनों के अन्दर ही यह एप्लीकेशन फिर से आज जाएगी.

कुछ गुमराह करने वाली और कुछ मिसलीडिंग इनफार्मेशन  यह एप्लीकेशन यूजर के साथ कर आटोमेटिक शेयर कर रही थी.

अभी फिलहाल में UC ब्राउज़र सर्च करने पर Play Store में केवल UC Browser Mini ही उपलब्ध है.

जो  UC Browser का लाइटवेट वर्जन है.  

UC वेब की ऑफिशियल साइट पर UC ब्राउज़र को डाउनलोड करने के लिए एक APK लिंक UC वेब के तरफ से दी गई हैं.

क्या है Rumour :

कुछ मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक UC ब्राउज़र यूजर्स का सरफेस डाटा और यूजर की लोकेशन उनके चाइना के सर्वर में भेज रहा था.

 UC ब्राउज़र की ओर से एक स्टेटमेंट आया है, जिसमें उन्होंने यूज़र्स के प्राइवेसी पॉलिसी और सिक्योरिटी की गारंटी दी है.

जिसकी वजह से भारत सरकार ने UC ब्राउज़र पर कोई भी प्रतिबंध नहीं लगाया.

एक रिसर्च के मुताबिक UC Browser भारत में बहुत ही पसंदीदा Browser है.

यह Google Chrome के  मुकाबले  50% मार्केट शेयर पर इस का कब्जा है.

आने वाले 30 दिनों में यह ब्राउज़र फिर से प्ले स्टोर में आएगा या नहीं इसकी संपूर्ण जानकारी कुछ ही दिनों में पता चल जाएगी फिलहाल में यह Browser डाउनलोड करने के लिए UC वेब की ऑफिशियल साइट पर APK लिंक उपलब्ध है.

Read: Vodafone New 1GB per day data Plan Launch. Vodafone लाया नया प्लान

Read: मोबाइल नंबर को आधार कार्ड से लिंक नहीं किया तो हो जायेगा सिम कार्ड ( बंद )डीएक्टिवेट.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *